Highlights
  • चीन सीमा विवाद पर सर्वदलीय बैठक
  • 20 राजनीतिक दलों को मिला न्योता
  • 20 जवानों की शहादत पर आक्रोश

चीनी घुसपैठ की जानकारी मिलते ही बुलानी चाहिए थी बैठकः सोनिया

सर्वदलीय बैठक में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देने और उनके परिजनों के प्रति संवेदना व्यक्त करने के बाद अपनी बात शुरू की. उन्होंने कहा कि जब 5 मई को लद्दाख समेत कई जगह चीनी घुसपैठ की जानकारी सामने आई, तो उसके तुरंत बाद ही सरकार को सर्वदलीय बैठक बुलानी चाहिए थी. राष्ट्र की अखंडता और रक्षा के लिए पूरा देश एक साथ खड़ा है. साथ ही सरकार द्वारा उठाए गए कदमों का समर्थन करता है.
 
राजनाथ सिंह ने विपक्षी नेताओं को मौजूदा हालात की जानकारी दी

इस सर्वदलीय बैठक के दौरान रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने सभी विपक्षी नेताओं को गलवान में हिंसक झड़प के बाद के मौजूदा हालात की जानकारी दी. राजनाथ सिंह ने विपक्षी नेताओं को यह भी बताया कि भारतीय सेना किसी भी हालात से निपटने के लिए पूरी तरह से तैयार है. उन्होंने कहा कि सीमा पर सेना पूरी तरह मुस्तैद हैं.
 
सर्वदलीय बैठक की शुरुआत में शहीदों को दी गई श्रद्धांजलि

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में सर्वदलीय बैठक शुरू हो चुकी है. इस बैठक में विपक्षी दलों के नेता शामिल हैं. बैठक की शुरुआत में चीन सीमा पर शहीद हुए सैनिकों को श्रद्धांजलि दी गई.
 
सर्वदलीय बैठक में नहीं बुलाए जाने पर बोले केजरीवाल- ये उनकी मर्जी

पीएम मोदी की सर्वदलीय बैठक में आम आदमी पार्टी (AAP) को नहीं बुलाए जाने पर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रतिक्रिया दी है. सर्वदलीय बैठक में न बुलाए जाने पर उन्होंने कहा, ‘ये उनकी मर्जी है. उस पर मैं कुछ नहीं कहना चाहूंगा. उनको जो ठीक लगता है, वो करें, लेकिन हम देश के साथ है, सेना के साथ है. चीन को सबक सिखाया जाए, चीन के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए.’
 
चीन को घेरने के लिए सैन्य और राजनीतिक मोर्च पर हलचल तेज

सीमा पर तनातनी के बाद चीन को घेरने की तैयारी हो रही है. सैन्य और राजनीतिक मोर्चे दोनों पर हलचल तेज है. सैन्य मोर्चे पर सेना पूरी तरह तैयार है. वायुसेना अध्यक्ष आर. के. एस. भदौरिया लेह जाकर तैयारियों का जायजा ले चुके हैं. राजनीतिक मोर्चे पर सरकार भी अलर्ट है. प्रधानमंत्री मोदी थोड़ी देर में सर्वदलीय बैठक करने जा रहे हैं. गलवान घाटी में 20 जवानों की शहादत पर जो सवाल विपक्ष के मन में हैं, आज उसके जवाब सर्वदलीय बैठक में प्रधानमंत्री मोदी देंगे. चीन के साथ जारी तनातनी पर अभी क्या हालात हैं, गलवान में क्या हुआ, इस पर प्रधानमंत्री मोदी खुद विपक्ष को भरोसे में लेंगे.
 

इस बैठक में मुख्य तौर पर कुल 20 राजनीतिक दलों के प्रतिनिधि शामिल होंगे. सोनिया गांधी, अखिलेश यादव, मायावती, शरद पवार समेत कई दिग्गज बैठक में हिस्सा लेंगे.

1. सोनिया गांधी

2. एमके स्टालिन

3. एन. चंद्रबाबू नायडू

4. जगन रेड्डी

5. शरद पवार

6. नीतीश कुमार

7. डी. राजा

8. सीताराम येचुरी

9. नवीन पटनायक

10. के. चंद्रशेखर राव

11. ममता बनर्जी

12. सुखबीर बादल

13. चिराग पासवान

14. उद्धव ठाकरे

15. अखिलेश यादव

16. हेमंत सोरेन

17. मायावती

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Copy link
Powered by Social Snap